Suhagrat Ko Great Banaye

Suhagrat Ko Great Banaye

सुहागरात को महान बनायें

सुहागरात-

सुहागरात एक ऐसा प्यारा और रोमांटिक अवसर होता है, जोकि हर स्त्री-पुरूष के जीवन में केवल एक बार ही आता है, इसलिए इसका अपना ही एक विशेष महत्व होता है। अधिकतर लोगों के मन में सुहागरात को लेकर बहुत सारी बातें व भ्रांतिया होती हैं कि कैसे करेंगे, शुरूआत कैसे करें, सुहागरात सफल होगी या असफल, पार्टनर को खुश कर पायेंगे या नहीं, एक-दूसरे का दिल कैसे जीतेंगे इत्यादि।

दअसल सुहागरात में सबसे बड़ी और खास नर्वस करने वाली बात यह रहती है कि एक नये अजनबी का सामना हमें इस पहली रात में करना होता है, जानना होता है, समझना होता है और फिर आगे बढ़ना होता है। विशेषकर अरेंज मैरिज में, क्योंकि आप पहले से अपने पार्टनर को नहीं रहे होते हैं। इस स्थिति में बहुत सारी मुश्किलों का सामना कर पड़ता है, क्योंकि आपके अंदर बेचैनी और घबराहट होती है।

अगर आप भी शीघ्र ही विवाह के बंधन में बंधने वाले हैं या फिर भविष्य में जब भी विवाह करेंगे और इसी तरह के प्रश्न और भ्रांतियां आपके भी मन है, तो हम यहां आपको बता रहे हैं कुछ ऐसे टिप्स, जिनका अनुसरण करके आप अपनी सुहागरात को बना सकते हैं एक यादगातर रात।

1. नाॅर्मल रहें, जल्दबाजी न करें-

सुहागरात में सबसे जरूरी है कि आप जितना हो सके सहज रहने की कोशिश करें, क्योंकि आप नाॅर्मल रहेंगे, तो इससे आपका पार्टनर भी सहजता का अनुभव करेगा और आप दोनों आपस में अच्छी तालमेल बैठा पायेंगे। आपको अपने दिमाग में यह बात अच्छे से बैठानी होगी कि आपको सेक्स या संभोग के प्रति जल्दबाजी या उतावलपन नहीं दिखाना है। सबसे पहले उनसे प्यार से बात करें और उन्हें इस बात का पूरा एहसास दिलायें कि आप उनसे बहुत प्यार करते हैं और उनकी हर दुख-सुख में जीवनभर के सहयोगी हैं। क्योंकि वह आपके यहां नये आये हैं, तो सबसे पहले आपको उन्हें अच्छे से जानना जरूरी है। एक-दूसरे की पसंद-नापसंद जानें। ऐसा करने से सुहागरात तो सफल होगी ही, साथ आप दोनों का आपसी रिश्तों में प्रेम भी गहरा होगा।

यह भी पढ़ें- सफेद पानी

2. उपहार देना न भूलें-

Suhagrat Kaisi Hoti Hai

उसके बाद सबसे महत्वपूर्ण बात जो ध्यान रखनी चाहिए वो ये कि हम जब पहली बार सुहागरात को मिल रहे हैं। सुहागरात हमारी ऐसी रात होती है, जब हम पहली बार पूरी रात्रि के लिए मिलते हैं। अपने पार्टनर से उस दिन उपहार जरूर लेकर जायें। उसका बहुत महत्व होता है। उपहार की एक्साईटमेंट जो होती है, वो नर्वसनेस को कम करती है। एक आपको अजनबी साथी के साथ बात करने का जरिया मिलता है, वरना आप सीधे जाकर क्या बात करेंगे। लेकिन उपहार के बहाने आप बातों से शुरूआत कर सकते हैं।

Suhagrat Ko Great Banaye

3. परिस्थिति को जानें-

इसके बाद जो खास बात ख्याल रखना होता है आपको अपने पार्टनर का वो ये है कि वह आपकी पार्टनर अलग घर से आई है, इसलिए उनकी परिस्थिति को जानें। वो किस दौर में हैं, अभी क्या सोचती हैं, अपनी जिदंगी को लेकर उनको जानने और समझने का प्रयत्न करें। लेकिन हां, जब आपकी दुल्हन यानी पार्टनर बातों में सहता का अनुभव करने लगे, शुरूआत उनके हाथों को अपने हाथों में लेकर कर सहला सकते हैं। इस बीत बातें करना न रोके। बातें प्यार से करते रहिए, इससे उनको अच्छा महसूस होगा। और हां इसके बाद अगर आपकी पार्टनर सहज महसूस करती हैं, तो आप उनके हाथों को प्यार से चूम सकते हैं।
आपका उनका इस तरह हाथ चूमना उनके अंदर एक विश्वास पैदा करेगा। उनको इस बात का एहसास करायेगा कि उनका साथी केवल सेक्स के लिए लालायित नहीं है। प्यार के छोटे-मोटे पलों को भी जीना चाहता है और उनकी खुशियों का ख्याल भी रखता है।

धीरे-धीरे बात करते-करते उनको कुछ चुटकले या फिर उनका कोई पसंदीदा गाना सुना सकते हैं या आपके अंदर जो अदा हो, क्वालिटी हो उसमें ले जाइए।

आप यह आर्टिकल suhagrat.co.in पर पढ़ रहे हैं..

Suhagrat.co.in

4. फोरप्ले करें-

सुहागरात में अगर संभोग करने का आप दोनों ने मन बना लिया और आप दोनों इसके लिए पूरी तरह तैयार हैं, तो संभोग से पूर्व फोरप्ले करना अति आवश्यक है। फोरप्ले में आप जैसे उन्हें माथे पर चूमना, हाथों को चूमना, वो साथ देती हैं, तो उनके संवेदनशील अंगों सहलाना व चूमना। इससे आपका पार्टनर पूरी तरह उत्तेजित हो पायेगा और संभोग में आपको अच्छे से सहयोग करेगा, जिससे आप सुहागरात में संभोग में भी सफल होंगे।

5. मर्जी न थोपें-

सुहागरात में पुरूष इस बात का ध्यान रखें कि अगर आपकी पार्टनर आपके साथ संभोग के लिए तैयार है, तो ही संभोग के लिए आगे बढें। इसके लिए उनसे जोर जबरदस्ती करने की कोई जरूरत नहीं हैं। इसका आपके वैवाहिक जीवन में गहरा प्रभाव पड़ सकता है। दूसरी बात यह ध्यान रखनी है कि जब आप संभोग करें, तो किसी भी सेक्सुअल क्रिया के लिए अपनी पार्टनर पर दबाव न बनायें। इस हरकत से कहीं ऐसा न हो कि अपनी पार्टनर सेक्स के नाम से डरने व नफरत करने लगे। याद रहे कि आप दोनों का साथ केवल एक रात का नहीं है, जीवन भर का है। संभोग को ज्यादा तवज्जो न दे। एक-दूसरे के गले लगकर प्यार से साथ में बातें करते हुए भी सो सकते हैं।

यह भी पढ़ें- धात रोग

6. संभोग पश्चात् बातें-

कई स्त्रियों या पत्नियों की शिकायत होती है कि संभोग के दौरान तो उनके पुरूष साथी बहुत ज्यादा प्यार और जोशीलान दिखाते हैं। मगर संभोग के बाद ऐसे पलट जाते हैं कि जैसे दोनों के बीच कुछ हुआ नहीं था। सुहागरात में संभोग के बाद तुरन्त सोने की तैयारी न करें। अपने संभोग के अच्छे-बुरे अनुभवों को एक-दूसरे से शेयर कर सकते हैं।
अपनी पार्टनर को ये एहसास दिलायें कि आप केवल उनके यौनिक अंगों से ही मतलब नहीं रखते। या फिर उनके शरीर से ही आपका प्यार नहीं है, बल्कि मन और आत्मा से भी उन्हें बहुत चाहते हैं और हमेशा उनके सम्मान और खुशियों का ख्याल रखेंगे।

ऐसा करेंगे तो निश्चित तौर पर आप दोनों की सुहागरात एक यादगार रात बन जायेगी और जीवनभर आपके रिश्ते में मधुरता बनी रहेगी।

सेक्स से संबंधित किसी भी जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें..http://chetanonline.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *