Suhagrat Kaise Manaye

Suhagrat Kaise Manaye

सुहागरात कैसे मनायें

Suhagrat, Suhagrat Tips, Honeymoon

सुहागरात को लेकर हर लड़की और लड़के के मन में अपने ही रंगीन सपने होते हैं, उम्मीदें होती हैं, उत्साह और पूर्ण जोश होता है। लेकिन इसके साथ-साथ एक भय व अनजाना डर भी होता है। जैसे कि अगर विवाहित जोड़े की अरेन्ज मैरिज है, तो दुविधा और भी बढ़ जाती है। दरअसल अरेन्ज मैरिज में लड़का और लड़की पहले से एक-दूसरे को इतना गहराई से नहीं जानते हैं। एक-दूसरे की पसंद-नापसंद से बिल्कुल अनजान होते हैं, ऐसे में सुहागरात की पहली रात को आपसी तालमेल बैठाने में परेशानियां आने लगती हैं। कैसे शुरूआत करें, क्यों करें, क्या न करें ऐसे ही बहुत से प्रश्न मन में उठते हैं, जिनके बारे में सोच-सोच कर बेकार का तनाव घेर लेता है।
इस हिंदी लेख में हम सुहागरात को लेकर कुछ जरूरी बातों पर चर्चा कर रहे हैं, जिनसे विवाह के बंधन में बंधने जा रहे युवक व युवतियों को बहुत मदद मिलेगी और सुहागरात बन जायेगी एक रोमांटिक यादगार भरी रात।

आप यह हिंदी लेख suhagrat.co.in पर पढ़ रहे हैं..

सुहागरात के लिए आश्वयक टिप्स-

Suhagrat Kaise Manaye

1. प्यार भरी बातों का सिलसिला जारी रखें :
इस रात को केवल संभोग की दृष्टि से न देखें और न ही अपनी दुल्हन पर दबाव डालें। शुरूआत हल्की-फुल्की प्यारी व रोमांटिक बातों से करें। कोशिश करें बातों का टाॅपिक रोमांटिक हो, जिसमें पत्नी की खूबसूरती की प्रशंसा, जिस्म के अंगों की प्रशंसा, फिगर की प्रशंसा शामिल हो, इससे पत्नी भी रोमांटिक मूड में आ जायेगी और वह आपके साथ धीरे-धीरे सहज होने लगेगी। ध्यान रखें कि किसी गंभीर मुद्दे पर बात न करें, वरना यह रात बोरिंग रात बनकर रह जायेगी दोनों के लिए। आपस में बातचीत करेंगे तो दोनों को ही एक-दूसरे के साथ खुलने का अवसर मिलेगा। फिर जरा आप ही सोचिए कि जो स्त्री आपसे केवल बात करने में ही हिचकिचाहट महसूस कर रही है, वो शारीरिक मिलन के लिए इतनी जल्दी कैसे खुद को तैयार कर पायेगी। जब खुलकर होंगी बातें, तब खूब कटेंगी रातें।

2. उपहार देकर करें प्यार का इजहार :
सुहागरात को यदि आप अपनी पत्नी को कोई सरप्राइज गिफ्ट देंगे, जोकि उसकी पसंद का हो, तो वह आपकी मुरीद हो जायेगी। अगर आपको उनकी पसंद नहीं भी मालूम है, तो भी अपनी ही पसंद का कोई ऐसा उपहार दें, जोकि उसका दिल जीत ले। ध्यान रखें कि भले ही आपकी शादी अरेन्ज न होकर, लव मैरिज हो और आपने शादी से पहले भी कई बार उन्हें तोहफा दिया हो, तो भी पहली रात को पत्नी को उपहार दें और खुलकर अपने प्यार का इजहार करें। उसे एहसास करायें कि यह तोहफ केवल तोहफा नहीं है, बल्कि आपका प्यार है, जो आप उनसे बेइंतहां करते हैं। सच मानिए पत्नी आपकी दीवानी हो जायेगी और हो सकता है थोड़ी भावुक भी हो जाये।
उपहार खरीदने में कंजूसी बिल्कुल न करें। यह आपके द्वारा पत्नी को दिया जाने वाला वो तोहफा होगा, जिसे आपकी हमसफर पत्नी तांउम्र संजोकर रखेगी। कुछ पैसे बचाने के चक्कर में जीवन भर ताना न सुनना पड़े।

यह भी पढ़ें- स्वप्नदोष

3. पत्नी को उनके खास होने का करायें अहसास :
देखिए पत्नी यही सोचकर बैठी होगी कि पति महोदय आयेंगे और टूट पड़ेंगे उनके शरीर पर। जिसके लिए वह भी एक तरह से खुद को तैयार कर चुकी होती है। मगर कभी-कभी ऐसा भी होता है कि किसी भी कारण वश पत्नी की इच्छा होती है कि काश! उनके पति आज की रात सेक्स के लिए दबाव न डालें। केवल बातें करते हुए एक-दूसरे की बांहों में सोने की इच्छा हो, जानने की इच्छा हो। इसलिए पति महोदय को चाहिए पत्नी से तुरन्त सेक्स के लिए न कहें और न ही उतवालापन दिखायें। वरना आपकी पत्नी को लगेगा कि आपको केवल उनके तन से प्यार है, उनकी भावनाओं की आपको कोई कद्र नहीं है। इस रात को पत्नी को करायें उनके खास होने का अहसास। उन्हें बतायें कि आप उनसे बहुत प्यार करते हैं, उनकी हर छोटी-बड़ी खुशी का आपको पूरा ध्यान है और पूरी जिंदगी रखेंगे, आपकी जिंदगी में उनकी कितनी अहयमित है, उनके बिना आपकी जिंदगी अधूरी थी, जोकि अब विवाह के बाद पूरी हुई है। उनका आपके जीवन में आना ईश्वर का दिया बहुत बड़ा उपहार है।
सच मानिए यदि आप ऐसा कर पाये, तो आपकी पत्नी पूरी जिंदगी आपके चरणों में पडी रहेगी और आपको तन और मन से हमेशा समर्पित रहेगी।

Suhagrat Kaise Manaye

suhagrat.co.in

यह भी पढ़ें- शीघ्रपतन

4. धीरे-धीरे प्यार की ओर कदम बढ़ायें :
जैसे कि पहले भी बताया है कि जल्दबाजी न करें, सेक्स के लिए दबाव न डालें, पत्नी को सहज महसूस करायें। यदि आप बताये गये सब प्रयास कर चुके हैं और अब आपको लगने लगा है कि आपकी पार्टनर अब थोड़ी सहज है और आपसे खुलने लगी है, तो अब प्यार का अगला कदम बढ़ा सकते हैं। बडे़ प्यार से और अदब से पत्नी का हाथ थामकर संभोग प्रणय निवेदन करें और स्वीकृति मिल जाये तो पागलों की तरह न टूट पड़ें। धीरे-धीरे आगे बढ़ें, फोर प्ले करें और मार लें मैदान। ताकि पत्नी भी आपकी दीवानी हो जाये। अगर आप दोनों संभोग के लिए पूरी तरह मन बना चुके हों, तो इस बात का भी ध्यान रखें कि संभोग से पूर्व कंडोम व लुब्रिकेंट्स वगैरह का बंदोबस्त रखें। शारीरिक मिलन के बीच में यदि खलल पड़ेगा, तो सारा मजा किराकिरा हो जायेगा।

5. पदर्शन का भय मन में न रखें :
सुहागरात में संभोग करना आम बात है, जोकि एक तरह का रिवाज भी समझा जाता है। इसलिए अगर पति-पत्नी दोनों ही एक-दूसरे की स्वीकृति को जानकर सेक्स का मन बना चुके हों, तो संभोग के लिए किसी भी प्रकार का भ्रम मन में न रखें। खासकर पुरूषों को यही चिंता रहती है कि प्रदर्शन कैसा हो। कैसे-कैसे प्रयोग किये जायें कि पत्नी खुश हो जाये और अपनी मर्दानगी का रौब भी साबित हो जाये। मत भूलिए यह सुहागरात है न कि कोई प्रतियोगिता जिसमें आपका प्रदर्शन महत्व रखता है। सुहागरात तो पति-पत्नी के बीच गुजरने वाली वो मधुर, शुभ और रोमांटिक रात होती है, जिसमें दोनों ही एक-दूसरे पर भरोसा रखकर अपनी रात को प्यार से महका देते हैं। ऐसा न हो कि पत्नी के आगे खुद को बेहतर साबित करने के चक्कर में आप केवल घनचक्कर बनकर रह जायें।

7. एक-दूसरे पर न मढ़ें आरोप :

Suhagrat Kaise Manaye
देखिए सुहागरात को लेकर आप दोनों की सोच अलग-अलग हो सकती है, इसलिए जरूरी नहीं है कि जैसा आप दोनों ने सोचकर रखा है, ठीक वैसा ही इस रात को सम्पन्न हो सके। गलतियां दोनों से हो सकती हैं, जिस कारण सुहागरात परिपूर्ण न हो पाये। इसलिए जरूरी है कि एक-दूसरे की गलतियों को न ढूंढे और न ही गिनायें। आप दोनों का साथ पूरी जिंदगी भर का है, इसलिए ऐसी कई रातें आपके जीवन में आयेंगी, जिसे आप अपनी-अपनी गलतियों को सुधार कर मधुर बना सकते हैं।

सेक्स समस्या से संबंधित किसी भी जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें..http://chetanclinic.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *