Suhagrat Aur Dil Ki Baaten

Suhagrat Aur Dil Ki Baaten

suhagrat.co.in

सुहागरात और दिल की बातें

क्या होती है सुहागरात?

सुहागरात एक ऐसी रात होती है, जब एक स्त्री और पुरूष यानी नवविवाहित पति-पत्नी एकांत में एक रात साथ में बिताते हैं। एक-दूसरे को समझते हैं और प्यार भरी रात एक-दूसरे की बांहों में गुजारते हैं।
यंू विवाह के बाद कई रातें ऐसी आती हैं, जब पति-पत्नी एकांत में पल व्यतीत करते हैं, मगर शादी के बाद पहली रात दोनों के जीवन में एक बहुत ही महत्वपूर्ण रात होती है, जिसे सुहागरात कहा जाता है।

सुहारात में संभोग कितना जरूरी है?

Suhagrat Aur Dil Ki Baaten

दोस्तों यह एक बहुत ही अच्छा और महत्वपूर्ण प्रश्न है। कई पुरूषों को अपने पर यह अभिमान होता है कि सुहागरात यानी पत्नी का सुहाग तो मैं ही हूं, इसलिए सुहागकक्ष में बैठी उसकी पत्नी या स्त्री उसकी गुलाम है। आज उसका पूरा अधिकार है अपनी हर मनमानी करने का।

Suhagrat Aur Dil Ki Baaten

जो भाई या व्यक्ति ऐसी सोच रखते हैं, उन्हें अपनी सोच बदलनी जरूरी है। अगर आप अपनी पत्नी के सुहाग हैं, तो वो भी आपकी सुहागन है और वैसे भी पत्नी को अर्धांग्नि कहा गया है, यानी पति का आधा अंग, आधा शरीर, आधे प्राण।
कहने का अभिप्राय यही है कि पति-पत्नी एक-दूसरे के पूरक हैं। दोनों को अपने अधिकारों में, प्रेम में और व्यवहार में सही तालमेल बनाकर चलना होगा। आखिर ये एक रात की नहीं, बल्कि जीवन भर की बात है। जीवन भर का साथ है।

यह आर्टिकल आप suhagrat.co.in पर पढ़ रहे हैं..

अब बात करें संभोग यानी सेक्स की, तो जरूरी नहीं कि इस पहली रात में सेक्स करें ही करें। हां, आप आपस में एक-दूसरे को विश्वास में लेकर, एक-दूसरे की इच्छा को जानकर आगे बढ़ सकते हैं। अगर दोनों की इच्छा है कि संभोग करना है, तो फिर बड़े प्यार और आराम से धीरे-धीरे आगे बढ़ते हुए मिलन का कार्य सम्पन्न कर सकते हैं। और एक बात और विशेष ध्यान रखें। विशेषकर पुरूष, अगर पत्नी की ‘ना’ है तो इसे ‘ना’ ही समझें। उस पर कोई जोर जबरदस्ती करने की कोशिश न करें। इससे आपका विवाहित जीवन प्रभावित हो सकता है। पहली रात से ही आपके वैवाहिक जीवन में कड़वाहट आ सकती है। आपकी पत्नी की राय आपके लिए बहुत ज्यादा नकारात्म हो सकती है। उसे लगेगा कि आपको केवल उसके शरीर से ही मतलब है। उसके सम्मान और भावनाओं की आपको कोई कद्र ही नहीं है।

इसे भी पढ़ें- शीघ्रपतन

वैसे भी संभोग और सेक्स के लिए पूरा जीवन और कई रातें पड़ी हैं, इसलिए इस रात को केवल सेक्स के नजरिये से ना देखें। एक-दूसरे को समझें, आपस में एक-दूसरे पसंद-नापसंद को जानें, आदतों को जानें। हां, इस बीच आप एक-दूसरे के हाथों को पकड़ सकते हैं, सहला सकते हैं, एक-दूसरे की आंखों में देखते हुए बात करेंगे, तो ज्यादा अच्छा होगा। ऐसा करना एक-दूसरे में विश्वास पैदा करेगा, जोकि आगे बढ़ने में सहायक सिद्ध हो सकता है।

शुरूआत कैसे हो?

स्त्री और पुरूष दोनों ही इस रात को लेकर जितना उत्सुक, बेचैन और उतावले होते हैं, उतना ही इस बात को लेकर भी परेशान और घबराये हुए भी होते हैं कि आखिर इस रात ही शुरूआत कैसे करेंगे, बात कहां से शुरू करेंगे। कई पुरूष लोग तो लड़की की तुलना में ज्यादा तनाव में होते हैं, कि कैसे होगा, होगा तो सफल रहेगा या नहीं, कहीं कोई चूक न हो जाये, पत्नी के सामने शर्मिन्दा न होना पड़े। कई पुरूष तो अपनी बेचैनी व घबराहट को छुपाने के लिए शराब का सहारा भी ले लेते हैं, जोकि हर हाल में बुरी और गलत बात है। वैसे भी पत्नी के प्यार और साथ से बड़ा कोई और नशा नहीं होता।

इसे भी पढ़ें- सफेद पानी

इस रात को पुरूष को चाहिए कोई सरप्राइज गिफ्ट देकर बात की शुरूआत कर सकते हैं। ये एक प्रकार का बहाना भी हो जायेगा बातों का सिलसिला आगे बढ़ाने का। और इसी बहाने यानी उपहार देने के बहाने आप उन्हें स्पर्श भी कर सकते हैं। जैसे कि हाथ को सहला देना, फिर नजदीक आकर बैठ जाना और बातें करना। इससे पत्नी को भी अच्छा लगेगा और हो सकता है वो भी अपनी ओर से कोई ऐसी कोशिश करेगी, कि आपसे अच्छे घुलमिल सके।

Suhagrat Aur Dil Ki Baaten

बातें और आराम जरूरी है-

इस बात से तो आप भली-भांति परिचित होंगे, कि शादी-विवाह की रस्में-रिवाजों को पूरा करते-करते दुल्हा-दुल्हन बहुत ज्यादा थक जाते हैं। ऐसे में संभोग की दृष्टिकोण से सोचें तो इस पहली रात में संभोग कर पाना कभी-कभी संभव नहीं हो पाता। थकावट ही इतनी हो जाती है, सेक्स के प्रति अरूचि होने लगती है।

इसलिए ये सोचकर कि इस रात को संभोग न किया तो पति नाराज हो जायेंगे या पति ये सोचकर कि पत्नी क्या सोचेगी, इन सब बातों को भूलकर इस रात को आप आराम भी कर सकते हैं। अपनी नींद पूरी करें। एक-दूसरे का हाथ पकड़ कर या फिर बाहों में बातें करते हुए सो सकते हैं, आराम कर सकते हैं।

इससे होगा ये जब आप अगली सुबह उठेंगे, तो खुद को एकदम फ्रेश और तरोताजा महसूस करेंगे। अगर दोनों की इच्छा हो, तो जल्दी सुबह संभोग कार्य को सम्पन्न कर सकते हैं, जोकि दोनों के लिए बेहतर होगा।

सुहागरात से संबंधित अन्य जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें..http://suhagrat.co.in/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *