Pehli Raat Ki Planing

Pehli Raat Ki Planing

Suhagrat.co.in

शादी की पहली रात की प्लानिंग!

सुहागरात यूं तो एक बहुत ही रोमांटिक और प्यार भरा शब्द है, लेकिन फिर भी आज के दौर में इस शब्द को सुनकर कई युवा दिल जहां धड़कने लगते हैं, वहीं कई स्त्री-पुरूष ऐसे भी हैं, जो सुहागरात नाम से ही कांपने या घबराने लगते हैं। खासकर पुरूषों में संभोग को लेकर यह आशंका ज्यादा रहती है कि कैसे करेंगे? कैसे होगा? होगा भी या नहीं होगा? होगा तो क्या सफल रहेंगे और सबसे अहम बात कि शुरूआत कैसे हो?

इसी प्रकार के कई भ्रम, डर व आशंकायें आज के हर नये शादीशुदा जोड़ों के मन में सुहागरात को लेकर होती हैं। सेक्स या संभोग तो एक काॅमन बात कह ली जाये या फिर यूं कहा जाये कि सेक्स एक अभिन्न हिस्सा है नव-दम्पत्ति की जिंदगी का। यह तो उनके बीच होना ही होना है और जब तक जीवन है, उत्साह है, उमंग है और स्वास्थ्य है, तब तक सेक्स जारी रहना ही रहना है। इसलिए जरूरी है कि मन में बैठे बेकार की चिंताओं का दमन करके शांति और विश्वास के साथ सुहागरात में आगे बढ़ें। अन्यथा न तो आप स्वयं सुहागरात के सुहाने पल का आनंद ले पायेंगे और न ही अपनी पार्टनर को दे पायेंगे।

सुहागरात एक ऐसी रात होती हैै, जब आप भविष्य का और वैवाहिक जीवन का ताना-बाना भी बुनते हैं। इस रात को रोमांटिक यादगार बनाने के लिए नीचे कुछ टिप्स दिये जा रहे हैं…

1. हड़बड़ी न मचायें

सुहागरात में इस बात का विशेष ध्यान रखें कि किसी भी बात की हड़बड़ी और जल्दबाजी दिखाने की बेवकूफी न करें। प्रयास यही करें कि आपकी सुहागरात एक सफल और यादगार रात बन सके। अगर आप इस पहली ही रात में सेक्स के लिए उतावलापन दिखायेंगे, तो इससे आपकी पार्टनर को बुरा लग सकता है। उसे यही लगेगा कि आप केवल सेक्स के लिए लालायित हैं, आपको उनकी भावना की कोई कद्र नहीं है। इसलिए जरूरी है कि संभोग कार्य से पूर्व अपने पार्टनर का विश्वास जीतें। आपस में प्यार भरी बातचीत के जरिए एक-दूसरे को अच्छे से समझने का प्रयास करें। एक-दूसरे की पूरी बात सुनें, सम्मान करें और कोई बात न अच्छी लगे तो खुलकर अपने पार्टनर से शेयर करें।

2. बेझिझक और स्पष्ट बात करें

सुहागरात में संभोग करना ही है, ऐसा आवश्यक नहीं है। इस रात की यादों को ऐसा बनायें कि आजीवन याद रहे। जिसे याद करके मन खिल उठे और चेहरे पर एक प्यार भरी मुस्कान आ जाये। इसके लिए आप आपस में जितनी देर हो सके बातें करें, वो भी नजदीक एक-दूसरे को स्पर्श करते हुए, पूरे विश्वास के साथ। एक-दूसरे को अच्छे से समझने का एक बहुत ही असरकारी उपाय है बातचीत।

अमूमन तौर पर आज हर लड़की और लड़का दोनों ही नौकरी करने लगे हैं, इसलिए उनके लिए उनकी इच्छायें और लक्ष्य अति आवश्यक होते हैं। इस दशा में विवाह पूर्व एक-दूसरे को समय दे पाना असंभव-सा हो जाता है, जिस वजह से वैवाहिक और सुहागरात जैसे टाॅपिक पर बात करने का अवसर दोनों को ही नहीं मिल पाता।

यह भी पढ़ें- शीघ्रपतन

वैसे भी हमारा समाज ऐसा है कि यहां आज के दौर में भी सेक्स जैसे मुद्दे पर बातचीत करना सही नहीं माना जाता। विशेषकर लड़कियों के लिए तो बिल्कुल भी ऐसा करना उचित नहीं समझा जाता। जिस कारण विवाह से पूर्व तो क्या, विवाह के पश्चात् भी नव-दम्पत्ति सेक्स टाॅपिक पर कोई बातचीत नहीं करते। उन्हें लगता है कि शायद ऐसा करना गलत होगा या फिर इस ओर उनका ध्यान ही नहीं जात। केवल जैसे-तैसे सेक्स करना ही उनका पहला लक्ष्य बन जाता है।

सही सेक्स पति-पत्नी के जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। पति-पत्नी के रिश्ते को मजबूत बनाने की एक बहुत बड़ी और अहम कड़ी होता है उचित सेक्स। अगर लड़का-लड़की शादी से पहले या फिर शादी के बाद सेक्स टाॅपिक पर बातचीत या विचार-विमर्श नहीं करेंगे, तो इससे उनकी सेक्सुअल लाईफ और वैवाहिक जीवन असफल होने का खतरा बना रहता है।

3. परिवार नियोजन-

आप यह आर्टिकल Suhagrat.co.in पर पढ़ रहे हैं..

food for men sexual health
sexual health education
sexual health tips in urdu
sexual health tips for men
sexual health tips in tamil
sexual health tips for male
men’s sexual health
sexual health tips in hindi

शादी के बाद संतान होना यह एक स्वाभाविक और आम बात है। कोई दम्पत्ति जल्दी संतान चाहती है, तो कोई देर से। अक्सर इसी मुद्दे पर कई बार कभी-कभी पति-पत्नी के विचार नहीं मिल पाते। अगर विवाह से पहले ही इस विषय पर बात हो जाये, तो अच्छा है। अगर नहीं हुई हो, तो सुहागरात में नए दम्पत्तियों को इस विषय पर जरूर बात करनी चाहिए, संतान कितने अंतराल में पैदा करनी है। आपसी विचार-विमर्श के अनुसार ही पति-पत्नी को परिवार नियोजन करना चाहिए, क्योंकि विवाह का यह सबसे बड़ा साइड इफेक्ट होता है। फैमिली प्लानिंग टाॅपिक पर यदि शादी से पहले या फिर शादी के बाद नव दम्पत्ति कोई बातचीत नहीं करते, तो परिणामस्वरूप अनचाहे गर्भ की समस्या सामने आ जाती है। कइ बार तो वैवाहिक जीवन में दरार भी इस वजह से आ जाती है।

4. रोमांस भरी बातें

Pehli Raat Ki Planing

सुहागरात में सिर्फ परिवार और भविष्य की योजनाओं के विषयों पर ही बातचीत न करें। एक-दूसरे की आदतों, पसंद-नापसंद के बारे में जानें और बात करें प्यार भरी रोमांटिक बातें करें। एक-दूसरे को स्पर्श भी कर सकते हैं या फिर हाथ पकड़ कर एक-दूसरे की आंखों में देखते हुए अपने प्यार का इजहार कर सकते हैं। बता सकते हैं कि आप एक-दूसरे से कितना प्यार करते हैं। सबसे जरूरी बात, कि एक-दूसरे की प्रंशसा करना ना भूलें। ऐसा करने से आप एक-दूसरे के नजदीक आएंगे और दोनों के बीच प्यार बढ़ेगा।

इसके साथ-साथ इस ओर भी विशेष ध्यान दें कि एकदम से संभोग के लिए तत्पर ना हो जायें। फोरप्ले करना संभोग से पहले अति आवश्यक है। फोरप्ले के दौरान आपका पार्टनर इतना उत्तेजित हो जाये कि संभोग करना उसकी पहली और आखिरी ख्वाहिश बन जाये, तब जाकर सेक्स में आगे बढ़ें। इस बात का ध्यान रखें कि संभोग काल में कोई ऐसा आसन न प्रयोग करें, जिससे आपका पार्टनर असहजता का अनुभव करे।

5. उपहार देना न भूलें

सुहागरात में एक-दूसरे को उपहार देना भी एक बहुत बड़ी अहम भूमिका निभाता है। खासकर जब पति अपनी पत्नी को उपहार देता है, तो पत्नी को काफी अच्छा लगता है। इसी बहाने बात की शुरूआत भी हो जाती है, जोकि बहुत उत्तम बात है। आपस में एक-दूसरे को उपहार देने के बहाने एक-दूसरे को स्पर्श करने का भी अवसर मिल जाता है, जिससे माहौल रोमांटिक बनने लगगता है। इसके साथ ही ऐसा करना पति-पत्नी के प्यार को और भी बढ़ाता है।

आप इस रात को अपने पार्टनर को कोई सरप्राइज गिफ्ट भी दे सकते हैं। जैसे कि अगर आप अपने पार्टनर की कोई मनपसंद जगह या पर्यटक स्थल को जानते हों, जहां जाना उन्हें बहुत अच्छा लगता हो, तो वहां का हनीमून पैकेज बनाकर पत्नी को हैरान और खुश कर सकते हो। या फिर कोई उत्तेजक वस्त्र व परिधान भी उपहार स्वरूप दे सकते हैं। स्त्रियों को ज्वैलरी का बहुत शौक होता है या फिर यूं कह लो कि कमजोरी होती है उनकी गहने पहनना। आप कोई भी ज्वैलरी अपनी आर्थिक स्थिति के अनुसार दे सकते हैं। जो भी उपहार आप अपने पार्टनर को देंगे, वो जीवन भर के लिए आपके पार्टनर के लिए एक अमूल्य उपहार बन जायेगा।

सेक्स से संबंधित किसी भी जानकारी के लिए इस लिंक पर किलक करें..http://chetanonline.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *